ट्रम्प पर आरोप : अमेरिकी चुनाव के दौरान साइबर हमले के पीछे रूस का हाथ

बराक ओबामा ने कहा कि अमेरिकी चुनाव में रूस की हैकिंग का अमेरिका जवाब देगा। व्हाइट हाउस ने आरोप लगाया कि डोनाल्ड ट्रम्प जानते थे, कि अमेरिकी चुनाव के दौरान साइबर अटैक के पीछे रूस है | WH ने कहा, ” ट्रम्प की जीत को अवैध ठहराना मकसद नहीं है।” उन्होंने कहा, “ट्रम्प अकेले इंसान नहीं थे, जो इस बात को जानते थे। इस बात की बड़े पैमाने पर रिपोर्टिंग हो रही है।

WH प्रेस सेक्रेटरी जोश अर्नेस्ट ने कहा, “ये बात कहना मुश्किल है कि ट्रम्प का सोर्स कौन है। हो सकता है कि ट्रम्प न्यूज रिपोर्टर या कैपिटॉल हिल में किसी पर भरोसा कर रहे हों, जिसे मामले की जानकारी हो और उसने ट्रम्प या उनकी टीम को इस बारे में बताया हो।”

बराक ओबामा ने अमेरिकी चुनाव के दौरान हुई हैकिंग की जांच के आदेश दिए हैं। अर्नेस्ट ने कहा, “ओबामा इस बात को लेकर संजीदा हैं कि जब हमारी इंटेलिजेंस किसी नतीजे पर पहुंचे तो इसका जवाब भी दिया जाए। हालांकि, मैं अभी ये नहीं कह सकता हूं कि आगे इस पर किस तरह का रिस्पॉन्स दिया जाएगा।

अच्छी बात ये है कि इंटेलिजेंस कम्युनिटी ने कहा कि चुनाव के दौरान रूस की साइबर एक्टिविटी में ऐसी कोई बढ़ोत्तरी देखने को नहीं मिली जो वोट डालने या उनकी काउंटिंग को प्रभावित करे।

रिकाउंटटिंग की सलाह विस्कॉन्सिन, मिशिगन और पेन्सिलवेनिया इन 3 स्टेट्स में इलेक्शन लॉयर्स और डाटा एक्सपर्ट का एक ग्रुप प्रेसिडेंशियल इलेक्शन चुनाव में हुए हेर-फेर का पता करेगे | इन तीनों ही स्टेट्स पर डेमोक्रेटिक पार्टी को काफी भरोसा है, क्योंकि पिछले कुछ चुनावों में यहां उनके कैंडिडेट्स जीते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *