जम्मू-कश्मीर: गुरेज सेक्टर में हिमस्खलन के चलते 10 जवान शहीद, कई लापता

जम्मू-कश्मीर के गुरेज सेक्टर में बर्फीले तूफान से अब तक 10 सैनिकों की मौत हो गई है।  बेहद खराब मौसम और बर्फबारी से कश्मीर घाटी की हालत खराब है। जगह-जगह बर्फीले तूफान या हिमस्खलन का सिल‍सिला जारी है।

बुधवार को सीमा के पास गुरेज सेक्टर में हुई हिमस्खलन की घटना में कई जवान दब गए थे। कुल सात जवानों के शव निकाल लिए गए हैं. इस घटना में एक जेसीओ सहित छह जवानों को बचा लिया गया है। इसी इलाके में कल हुई हिमस्खलन की एक और घटना में सेना का एक निगरानी वाहन लापता हो गया था। इस घटना में भी अब तक तीन जवानों के शव हासिल किए गए हैं।

कल मध्य कश्मीर में गंदेरबल जिले के सोनमर्ग में हिमस्खलन की चपेट में आने से एक अधिकारी की जान चली गयी थी. उधर, गुरेज सेक्टर में एक ही परिवार के चार सदस्य भी एक अन्य हिमस्खलन की भेंट चढ़ गये थे। प्रशासन ने बर्फबारी के चलते कश्मीर घाटी में बर्फ वाले क्षेत्रों में उंचाई पर हिमस्खलन आने की चेतावनी जारी की है। इन क्षेत्रों में तीन दिनों से रूक रूक कर बर्फबारी हो रही है।

बुधवाार से अब तक कश्मीर में हिमस्खलन की तीन बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं. इनमें सेना के एक मेजर सहित करीब एक दर्जन लोगों की मौत हो गई है। प्रशासन ने लोगों को घर के भीतर रही रहने की सलाह दी है।

गांदरबल में हिमस्खलन की घटना में मेजर अमित सागर शहीद हो गए थे। मेजर अमित सागर का जन्म 2 मई 1974 को हुआ था। वह अपने पीछे पत्नी और दो बच्चों को छोड़ गए हैं, जिनमें 18 साल की बेटी और 12 साल का एक बेटा है। उनका परिवार दिल्ली के जनकपुरी में रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *