नरेंद्र मोदी की सरकार ने विज्ञापन पर खर्च किए 11 अरब रुपये

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने पिछले 2 साल में विज्ञापन  पर 11 अरब रुपये से अधिक खर्च कर चुकी है। यह जानकारी ग्रेटर नोएडा के आरटीआई एक्टिविस्ट रामवीर सिंह ने आरटीआई ( सूचना का अधिकार ) के तहत हासिल की है। कांग्रेस ने इस आधार पर मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

रामवीर ने सूचना और प्रसारण मंत्रालय से पूछा था कि मोदी सरकार के बनने के बाद से लेकर अगस्त 2016 तक विज्ञापनों पर कितना सरकारी धन खर्च हुआ है। मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी में कहा गया कि सरकार ने ब्रॉडकास्ट, कम्युनिटी रेडियो, डिजिटल सिनेमा, इंटरनेट, दूरदर्शन, प्रोडक्शन, एसएमएस, टेलीकास्ट पर 11 अरब रुपये खर्च किए है।

आरटीआई के अनुसार, 1 जून 2014 से 31 मार्च 2015 तक लगभग 4.48 अरब रुपये खर्च किए गये। 1 अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2016 तक 5.42 अरब रुपए और वहीं 1 अप्रैल 2016 से 31 अगस्‍त 2016 तक 1.20 अरब रुपए खर्च किए जा चुके हैं। इस तरह कुल 11 अरब, 11 करोड़ 78 लाख रुपये से अधिक का सरकारी धन मोदी सरकार ने प्रचार पर खर्च किए है।

आरटीआई से मिली जानकारी के बाद अब कांग्रेस मोदी सरकार पर हमलावर हो गई है। यूपी कांग्रेस के प्रदेश महासचिव वीरेंद्र सिंह गुड्डू का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी पिछले ढाई साल से प्रचार ही तो कर रहे हैं। काम तो कुछ किया नहीं है। अगले ढाई साल भी ऐसे ही निकल जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *