पूर्व क्रिकेटरों के लिए पेंशन प्रस्ताव लेकर आएगा BCCI

बीसीसीआई जल्द ही पेंशन नियमों में बदलाव का प्रस्ताव लेकर आएगा। इस ऑफर से उन खिलाड़ियों को फायदा होने की उम्मीद है जिन्होंने 25 से कम मैच खेले हैं।

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अपने सेवानिवृत्त खिलाड़ियों के लिए जल्द ही तोहफा लाने की तैयारी कर रहा है। बीसीसीआई अपने पूर्व खिलाड़ियों की पेंशन से जुड़ा एक प्रस्ताव पारित करने की प्रक्रिया में है। इस प्रस्ताव से पेंशन नियमों में बदलाव होगा और 25 से कम प्रथम श्रेणी मैच खेलने वाले खिलाड़ियों को फायदा होगा।

 

आईसीए लंबे समय से बीसीसीआई के समक्ष पूर्व खिलाड़ियों को पेंशन की मांग कर रहा है। इन मांगों में पूर्व क्रिकेटरों और महिला घरेलू क्रिकेटरों की विधवाओं के लिए पेंशन के अलावा 25 से कम प्रथम श्रेणी मैच खेल चुके पूर्व खिलाड़ियों के लिए पेंशन शामिल है।

 

बीसीसीआई ने अब इस मामले के समाधान के लिए प्रस्ताव लाने का वादा किया है। पूर्व खिलाड़ियों के लिए पेंशन में संशोधन के बारे में पूछे जाने पर गायकवाड़ ने कहा, ‘पिछली बैठक में इस पर चर्चा हुई थी। सौरव गांगुली ने आश्वासन दिया है कि वह अगली बैठक में एक प्रस्ताव लेकर आएंगे।’

पेंशन नियमों में होगा बदलाव

नए प्रस्ताव के बाद पेंशन को लेकर नियमों में बदलाव किया जाएगा। “यह सिर्फ पेंशन बढ़ाने के बारे में नहीं है,” उन्होंने कहा। इसमें पूर्व खिलाड़ियों की विधवाओं के लिए पेंशन का जिक्र होगा। वर्तमान में 25 प्रथम श्रेणी मैच खिलाड़ियों को पेंशन का लाभ मिलता है लेकिन यह धीरे-धीरे घटकर 10 हो जाएगा।”

 

बीसीसीआई ने सोमवार को घोषणा की कि खिलाड़ियों को कोविड-19 से प्रभावित 2020-21 सत्र के मुआवजे के रूप में 50 प्रतिशत अतिरिक्त मैच फीस का भुगतान किया जाएगा। बीसीसीआई ने खिलाड़ियों की मैच फीस में भी बढ़ोतरी की घोषणा की है। बीसीसीआई के इस फैसले का आईसीए ने स्वागत किया है।