सीआईएसएफ ने दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को चाकू और लाइटर ले जाने की दी इजाजत

बेंगलुरु मे महिलाओं के साथ हुई बदसलूकी के चलते, दिल्ली मेट्रो ने एक नया फरमान जारी किया है। सीआईएसएफ ने महिला सुरक्षा को लेकर अहम कदम उठाया है। दिल्ली मेट्रो ने अब महिलाओं को अपनी सुरक्षा के लिए लाइटर, माचिस और चाकू रखने की इजाजत दे दी है। दिल्‍ली मेट्रो कॉर्पोरेशन ने शुक्रवार को इस बारे में निर्देश जारी किए हैं।

इस नए फैसले के बाद अब महिलाएं सेल्फ डिफेंस के लिए 4 इंच तक का चाकू संग लेकर यात्रा कर सकती हैं। मगर अधिकारियों को यह अधिकार दिए गए हैं कि वह यात्री को एंट्री से रोक सकते हैं अगर उन्‍हें सुरक्षा को लेकर किसी खतरे का अंदेशा हो। आदेश में कहा गया है कि मेट्रो में दैनिक मजदूर अपने कामकाजी उपकरण लेकर जा सकते हैं।

now lighters matchboxes allowed in delhi metro

दिल्‍ली मेट्रो में हर दिन करीब 30 लाख यात्री सफर करते हैं। महिलाओं को चाकू ले जाने की इजाजत देने से आत्‍म-रक्षा में मदद मिलेगी। सीआईएसएफ के एक अधिकारी ने कहा कि इसके अलावा प्रति यात्रियों को टूल्स ले जाने के लिए अनुमति भी दे दी गई है। दरअसल, कई मजदूर मेट्रो से यात्रा करते हैं और काम के लिए टूल्स ले जाने के लिए हमसे कई बार अनुरोध किया जाता था। इसे देखते हुए यह फैसला किया गया है।

हालांकि, नवीनतम नियम एक जैसे जयकार और आलोचना लाया गया है। कुछ लोगों का मानना ​​है कि, चाकू साथी यात्रियों के लिए खतरनाक हो सकता है। हर दिन, लगभग 30 लाख यात्रि दिल्ली मेट्रो का उपयोग करते हैं। मेट्रो अपने परिचालन 10 साल पहले शुरू कर चुका था। चाकू और तलवार, बंदूकें और आग्नेयास्त्रों, विस्फोटक सामग्री, ज्वलनशील वस्तुओं, खतरनाक रसायनों और शराब की बोतल मेट्रो के अंदर प्रतिबंधित 54 आइटम शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *