Starlink: जानिए आखिर क्या है स्टारलिंक, कैसे करें प्री ऑर्डर, जानिए ऐ टु जेड इन्फोर्मेशन

(संवादाता  समीना एजाज की रिपोर्ट)

दोस्तों आप के मन में एक सवाल होगा कि आखिर क्या है यह स्टारलिंक सर्विस और यह किस तरह से उपयोगी साबित हो सकती है, हमारे देश में Starlink को किस तरह से हम प्री-ऑर्डर कर सकते है, आपके इन सारे सवालों के जवाब को हमने इस आर्टिकल में दिया हैं। इसलिए दोस्तों हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर ही पढ़ें।

 

 Starlink के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें 

 

स्टारलिंक एक एसा प्रोजेक्ट है जो सैटेलाइट के जरिए से हमे हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड इंटरनेट सर्विस दे सकता है।

आपको बता दें कि यह प्रोजेक्ट Elon Musk की SpaceX कंपनी का है। 

 

दोस्तों,यह सर्विस Starlink का उपयोग दुनिया भर के कई देशों में 10 हज़ार से भी ज्यादा यूज़र्स  करते हैं ।

 

टेस्ला के मालिक Elon Musk की कंपनी SpaceX की सैटेलाइट पर आधारित इंटरनेट सर्विस स्टारलिंक के इस्तेमाल के लिए अब हमारे देश में भी रजिस्ट्रेशन करना पोसिबल हो गया हैं। वैसे तो इस सर्विस स्टारलिंक के लिए प्री-ऑर्डर सभी के लिए खुले हुए ही हैं, मगर ओफिशियल वेबसाइट के अनुसा  इंटरनेट की यह सर्विस  ‘First come  first served’  के आधार पर ही युजर्स को प्रोवाइड की जाएगी।  लेकिन फिर भी इस बारे में कंपनी का यह कहना है कि ऐसा भी हो सकता है कि आपके विस्तार में ये सर्विस शुरू ही न हुआ हो या हो फिर प्री-ऑर्डर करने वाले कस्टमर को ही न मिल सके और शायद यही कारण भी हो सकता हैं कि स्टारलिंक ने प्री-ऑर्डर के राशि को  रिफंडेबल रखा है। दोस्तों फिलहाल भारत इसकी में इस की पोजीशन देखने पर यह 2022 का तक का समय दिखा रही है। दोस्तों, इस सारी ही जानकारी से हमे इस बात का पता तो चलता है कि एलोन  स्टारलिंक  सर्विस को हमारे देश में 2022 तक लोंच करने की योजना तो बना ही चुके हैं। दोस्तों, सैटेलाइट पर आधारित इस फास्ट इंटरनेट प्रोजेक्ट स्टारलिंक को  प्री-ऑर्डर करने के लिए 99 डॉलर ( 7,200 INR) की रकम चुकानी पड़ेंगी। 

 

Starlink जानिए आखिर क्या है स्टारलिंक, कैसे करें प्री ऑडॅर, जानिए ऐ टु जेड इन्फोर्मेशन

 

 

 Starlink सर्विस का प्री-ऑर्डर कैसे करें 

 

 सबसे पहले आपको बता दे हैं कि स्टारलिंक को  भारत में  प्री-ऑर्डर करने की कीमत 99 डॉलर मतलब कि 7,200 रुपये है। इस सर्विस का इस्तेमाल करने वाले यूज़र्स स्टारलिंक की वेबसाइट पर प्री-ऑर्डर पेज पर अपना पता लिख करके इस सर्विस की उपलब्धता के बारे में सारी जानकारी हासिल कर सकते हैं। और साथ ही आपको अपने विस्तार का नाम टाइप करके  ‘Order Now’ ओप्शन पर क्लिक पड़ेगा। इन सारे ही स्टेप्स को फोलो करके आप अपने क्षेत्र में स्टारलिंक सर्विस की उपलब्धता की सारी ही  जानकारी आपको मिल जाएगी। दोस्तों, हमारे देश के कई राज्यों के विस्तारों में इस इंटरनेट सर्विस की  शुरुआत साल 2022 बताई गई है। 

दोस्तों, सर्विस भुगतान वसूल करने से पहले स्टारलिंक आपका नाम,ईमेल, फोन नंबर और बिलिंग एड्रेस जैसी सारी जरूरी जानकारियां आपसे लेगा और फिर आपको ‘Place Deposit’ ओप्शन पर क्लिक करके भुगतान करना पड़ेगा। दोस्तों, डिपोजिट का यह अमाउंट संपूर्ण रूप से रिफंडेबल है।

 

Starlink जानिए आखिर क्या है स्टारलिंक, कैसे करें प्री ऑडॅर, जानिए ऐ टु जेड इन्फोर्मेशन

 

 

 

 

Starlink सर्विस के लिए Terms & Conditions

 

ऐक जरूरी यह है कि कंपनी ने साफ ही कह दिया है कि यह सर्विस  ‘First come first served’ के बेज पर ही प्रोवाइड की जाएगी। साथ ही  यह भी कह दिया गया है कि सर्विस की शुरुआत रेगुलेटर्स द्वारा परवानगी मिलने के बाद ही  होगा। कंपनी अपने रजिस्ट्रेशन पेज पर टर्म्स एंड कंडीशन पेज पर ‘Limitations, Availability; ‘  में यह लिखा है कि  “प्री-ऑर्डर का अर्थ यह  नहीं है कि आपको स्टारलिंक किट और इसकी सर्विस मिलने की गारंटी दी जाती है। सर्विस की तारीखें तो सिर्फ एक अनुमान ही किया गया हैं और इसमें बहुत ही बडे बदलाव होने के चांसेज भी रहे हैं। कंपनी SpaceX द्वारा इस बात की गारंटी नहीं  है कि आपके विस्तार में सर्विस कब प्रोवाइड होंगी। इस सर्विस की उपलब्धता कई कारकों  पर डिपेंड है, जिसमें कइ नियामक अनुमति शामिल हैं।”

 

 

 Starlink सर्विस आखिर क्या है? 

 

टेस्ला कंपनी के मालिक  Elon Musk की कंपनी SpaceX का एक  प्रोजेक्ट स्टारलिंक सैटेलाइट  से  फ़ास्ट इंटरनेट सुविधा देने  के लिए शुरु किया गया है।  Elon Musk ने इस इंटरनेट के इस प्रोजेक्ट को दुनिया के कई शहरों में  शुरू कर दिया है और अब ऐसा  साल 2022 तक Elon इस प्रोजेक्ट को भारत में भी शुरू करने की योजना बना रहे हैं। 

 

इस इन्टरनेट प्रोजेक्ट से Elon की कंपनी सैटेलाइट के माध्यम से विश्व के किसी भी कोने में इंटरनेट की सर्विस सफलता पूर्वक दे सकती है। स्टारलिंक वास्तव में  सैटेलाइट इंटरनेट का जाल है और  सैटेलाइट के इस जाल में कइ  छोटे बड़े सैटेलाइट को शामिल किया गया है, जो जमीन पर बने ट्रांसीवर्स से क्नेकटेड रहेंगे। मई महिने में साल 2019 तक SpaceX ने कुल 60 ऑपरेशनल सैटेलाइट को लोअर ऑर्बिट पर बहुत ही बड़ी सफलता पूर्वक सेट कर दिया है और अब Elon  की योजना इस संख्या को 2027 के मध्य तक 42,000 सैटेलाइट तक पहुंचाने के बारे में है। आपको बता यह भी बता दें कि CNBC की एक रिपोर्ट के अनुसार, जनवरी तक SpaceX ने एक हजार से ज्यादा Starlink हाई-स्पीड इंटरनेट सैटेलाइट लॉन्च की थी।

 

 

कुछ ऑलाइन रिपोर्ट्स के अनुसार अमेरिका,ऑस्ट्रेलिया , मैक्सिको में स्टारलिंक यूज़र्स को कनेक्शन किट 499 डॉलर में (यानी कि 36,400 रुपये) मिल सकती है और हर माह 99 डॉलर रेंटल भी देना पड सकता है। भारत में अभी प्री-ऑर्डर 99 डॉलर की अमाउंट में हो रहा है, फिर भी यह  संभव है कि किट के लिए उपयोगकर्ता को अलग से कीमत भी चुकानी पड़ेगी। CNBC ने  की रिपोर्ट के मुताबिक U.K  में ग्राहकों को  माहाना £89 ( 9,000 रुपये) देने पड़ते हैं और कनेक्शन लेते समय में किट के लिए £439 ( 44,600 रुपये) देने पड़ेंगे। किट में स्टारलिंक के साथ ही  राउटर, पावर सप्लाई, केबल और  माउंटिंग ट्राईपॉड शामिल हैं। 

 

   Starlink एक सस्ता सौदा नहीं है। अब देखना तो यह है कि  देश में एलन ब्रॉडबैंड इंडस्ट्री में क्रांति लाने में कामयाब होते हैं या फिर नहीं। यह भी मालूम होगा कि  BSNL और Airtel,  Reliance Jio के पर Starlink का कितना असर होगा ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *