कोरोना संकट के बीच मदद के लिए आगे आया जर्मनी, भारत को दिए 120 वेंटिलेटर

(संवादाता मनीता अग्रवाल की रिपोर्ट)

 

देश इस समय भयंकर महामारी की दूसरी लहर का सामना कर रहा है।यह  दूसरी लहर देश के लिए प्राणघातक साबित हो रही है।इस मुश्किल समय मे हम बहुत सारे संकट का एक साथ सामना कर रहे है।

 

 



 

 

ज्ञात हो कि देश के अस्पतालो मे बेड की कमी हो रही है,ऑक्सीजन व्यवस्था सुचारु रुप से नही है,और इंजेक्शन, दवाइयाँ आदि की कमी से भी हम सब जूझ रहे है।

 

ऐसे मे सम्पूर्ण विश्व भारत की मदद कर रहा है।इन्ही मददगार देशो मे से एक नाम जर्मनी का भी आया है।

 

भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट करके बताया कि “इस वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए हमारे भरोसेमंद मित्र और साथी जर्मनी के साथ मिलकर काम कर रहे है और 120 वेंटिलेटर के उपहार के लिए जर्मनी का आभारी हूं।”

 



सूत्रों के मुताबिक जर्मनी अगले हफ्ते एक ऑक्सीजन प्लांट भी भेजेगा और उसके साथ 13 जर्मन तकनीक के कर्मचारी भी भारत आए है जो प्लांट को लगाने मे मदद कर रहे है और भारतीय कर्मचारियो को प्रशिक्षण दे रहे है।इसके साथ ही रेमेडसिविर और मोनोक्लोनल की खेप आना बाकी है।

 



विदेश मंत्रालय ने ट्वीट करके बताया कि संयुक्त राज्य अमेरिका से 1000 से अधिक ऑक्सीजन सिलेंडर, नियमाको  और कई उपकरण आए हैं। यह दो दिनों में तीसरा शिपमेंट है ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने में मदद कर रहा है